Kashmirnama
(Paperback)

2 products added to cart in last 30 minutes
MRP: ₹625.00 | Saved: ₹0 (0%) ₹625.00 @ Amazon Last Updated: 22-Jan-2018 12:58:55 am
✅ Lowest price available on Amazon
✅ Usually dispatched within 24 hours
✅ Total 5 new items found
✅ Eligible for Prime
✅ Eligible for Super Saver Shipping

Related Categories

‘‘अशोक कुमार पाण्डेय की ‘कश्मीरनामा’ हिन्दी में कश्मीर के इतिहास पर एक पथप्रदर्शक किताब है। यह किताब घाटी के उस राजनैतिक इतिहास की उनकी स्पष्ट समझ प्रदर्शित करती है जिसने इसे वैसा बनाया, जैसी यह आज है।’’
-शहनाज बशीर, युवा कश्मीरी उपन्यासकार

‘‘ ‘कश्मीरनामा’ पढ़कर इस बात का सुखद अनुभव होता है कि इसे एक-एक ऐतिहासिक घटना को बड़े एहतियात के साथ, छेड़े बिना, किसी भी प्रकार के पूर्वग्रह से मुक्त होकर लिखा गया है। मुझे उम्मीद है ‘कश्मीरनामा’ को कश्मीर में रुचि रखने वाले पाठक, शोधकर्ता और शिक्षक कश्मीर के इतिहास की पुस्तकों में एक दिग्दर्शन-पुस्तक के रूप में लेंगे।’’
-डॉ. निदा नवाज, प्रख्यात कश्मीरी कवि तथा लेखक

‘‘कश्मीर के अतीत और वर्तमान की समझ को लेकर हमारे चारों ओर जो खौफनाक चुप्पी पसरी है उसे तोड़ने की कोशिश करती इस पथप्रदर्शक किताब के महत्व को कम करके नहीं आँका जा सकता। चूँकि कश्मीर हर हिंदुस्तानी की जबान पर मौजूद रहता है, थोड़ी असहजता के साथ ही सही, ऐसी दर्जनों किताबें पहले ही हिन्दी पाठकों के सम्मुख होनी चाहिए थीं। अब इस तरह के कदमों से कश्मीर को अखबारों और टेलीविजन की सुर्खियों के शिकंजे से बचाया जा सकता है, और ये एक शुरुआती संवाद का रूप भी ले सकते हैं जिससे लोग यह विचार कर सकें कि कश्मीर से भारत को आखिर क्या मिला है। और भारत ने कश्मीर में क्या किया है।’’
-संजय काक, जाने माने फिल्मकार और लेखक

अशोक कुमार पाण्डेय एक चर्चित कवि और विचारक हैं जो सामार्थिक विषयों पर गहन शोध के लिए जाने जाते हैं। उनसे ashokk34@gmail.com पर सम्पर्क किया जा सकता है।

AuthorAshok Kumar Pandey
BindingPaperback
EAN9789386534453
ISBN9386534452
LanguageHindi
Language TypePublished
Number Of Pages464
Product GroupBook
Publication Date2018-01-10
PublisherRajpal and Sons
StudioRajpal and Sons
Sales Rank3947

Bestsellers in History

Trending Products at this Moment

General information about Kashmirnama