Ashwathama
Mahabharat ka Shapit Yodha
(Paperback)

5 products added to cart in last 30 minutes
MRP: ₹175.00 | Saved: ₹17 (10%) ₹158.00 @ Amazon Last Updated: 17-Apr-2018 07:49:35 pm
✅ Lowest price available on Amazon
✅ Usually dispatched within 24 hours
✅ Total 12 new items found
✅ Eligible for Prime
✅ Eligible for Super Saver Shipping

Related Categories

अश्वत्थामा
महाभारत का शापित योद्धा
इसे नियति की विडंबना ही कहेंगे कि महाभारत की गाथा का एक अत्यंत महत्वपूर्ण और अमर पात्र होने के बावजूद, अश्वत्थामा सदा उपेक्षित रहा है. पौराणिक साहित्य में अश्वत्थामा सहित और भी लोग हैं, जिन्हें अमर मन जाता है. परंतु जहाँ अन्य लोगों को अमर होने का 'वरदान' प्राप्त हुआ, वहीँ अश्वत्थामा को अमरता 'शाप' में मिली थी!

युद्ध की कथा सदा निर्मम नरसंहार, निर्दोषों की हत्या और दुष्कर्मों की काली स्याही से ही लिखी जाती है. तो फिर महाभारत जैसे महायुद्ध में अश्वत्थामा से ऐसे कौन-से दो अक्षम्य अपराध हो गये थे, जिनके लिए श्रीकृष्ण ने उसे एकाकी व जर्जर अवस्था में हज़ारों वर्षों तक पृथ्वी पर भटकने का विकट शाप दे डाला? उसके मन में यह प्रश्न उठता है कि श्रीकृष्ण ने इतना कठोर शाप देकर उसके साथ अन्याय किया या फिर इसके पीछे भगवान का कोई दैवी प्रयोजन था? क्या अश्वत्थामा के माध्यम से भगवान कृष्ण आधुनिक समाज को कोई संदेश देना चाहते थे?

अधिकांश जगत अश्वथामा को दुर्योधन कि भांति कुटिल और दुराचारी समझता है. लेखक ने इस उपन्यास में अश्वत्थामा के जीवन के अनछुए पहलुओं को उजागर करते हुए, उस महान योद्धा के दृष्टिकोण से महाभारत की कथा को नए रूप में प्रस्तुत किया है.

साहित्य के कन्धों पर यह ज़िम्मेदारी है कि विस्मृत नायक-नायिकाओं को पुनर्स्थापित करें. 'अश्वत्थामा' इस श्रेणी में एक आवश्यक महनीय प्रयास है.
- डॉ. कुमार विश्वास, कवि एवं राजनेता

अर्धसत्य, मनुष्य के लिए सदैव सुख का कारण और आत्म-मंथन का विषय रहा है. 'अश्वत्थामा' का पात्र इसी द्वंद्व का प्रतीक है.
- सुतपा सिकदार, लेखिका एवं फिल्म निर्माता.

AuthorAshutosh Garg
BindingPaperback
EAN9788183228060
EditionFirst
ISBN8183228062
LanguageHindi
Language TypePublished
Number Of Pages198
Product GroupBook
Publication Date2017-07-03
PublisherManjul Publishing House
Release Date2017-07-03
StudioManjul Publishing House
Sales Rank7098

Bestsellers in Religious & Spiritual Fiction

Trending Products at this Moment

General information about Ashwathama: Mahabharat ka Shapit Yodha Success