Pratinidhi kavitayen
Rajesh Joshi
(Paperback)

5 products added to cart in last 30 minutes
MRP: ₹569.00 | Saved: ₹500 (88%) ₹69.00 @ Amazon Last Updated: 10-Oct-2018 03:02:06 pm
✅ Lowest price available on Amazon
✅ Usually dispatched within 4-5 business days
✅ Total 2 new items found

Related Categories

राजेश जोशी की कविताओं को पढ़ना एक पीढ़ी और उसके समय से दस-पन्द्रह साल पीछे की कविता और उससे जुड़ी बहसों के बारे में सोचना, और इतने ही साल आगे की कविता और उसकी मुश्किलों की ओर ताकना है। कविता की एक संश्लेषी परम्परा रही है, जिसके भीतर राजेश जोशी की सक्रियता देखी जा सकती है। इसी बात ने उन्हें खास पहचान दी और समकालीन कविता को भी। केदारनाथ सिंह का यह कथन बिल्कुल दुरुस्त है कि 'राजेश जोशी आज की कविता के उन थोड़े से महत्त्वपूर्ण हस्ताक्षरों में हैं, जिनसे समकालीन कविता की पहचान बनी है।' राजेश जोशी की 'समझ' से समकालीन कविता और उसकी नई पीढ़ी अभिन्न है। कविता की एक संश्लेषी परम्परा, जो पीछे ही नहीं आगे भी जाती है। इसमें प्रतिरोध और प्रतिबद्धता है तो पर्याप्त लोच भी है।

AuthorRajesh Joshi
BindingPaperback
EAN9788126724123
EditionFirst
ISBN8126724129
Weight2 g
LanguageHindi
Language TypePublished
Number Of Pages144
Package Quantity1
Product GroupBook
Publication Date2017-01-01
PublisherRajkamal Prakashan
StudioRajkamal Prakashan
Sales Rank120362

Bestsellers in Poetry

Trending Products at this Moment

General information about Pratinidhi kavitayen: Rajesh Joshi